Sunday, September 14, 2008

ग्रैंड मास्टर रोबो

हर सुपर हीरो का अपना एक सुनिश्चित सुपर विलेन भी होता है.. जैसे स्पाईडर मैन का ग्रीन गॉबलिन.. बैटमैन का जोकर.. कुछ ऐसा ही ध्रुव के भी कुछ सुपर विलेन सुनिश्चित हैं.. और इनमें प्रमुख हैं ग्रैंड मास्टर रोबो, चुम्बा, बौना वामन इत्यादी..

आज मैं आपके सामने लेकर आया हूं ग्रैंड मास्टर रोबो वाली ध्रुव की पहली कॉमिक.. ये एक फुल एक्सन पैड कामिक है.. बस लगातार पढते जाईये, ज्यादा सोचने का मौका नहीं मिलेगा.. एक के बाद एक लगातार नये एक्सन सीन बनते जायेंगे.. इस कॉमिक्स में ध्रुव के एक नये मित्र से भी परिचय कराया गया था, जो अभी तक उसकी कॉमिक्सों में आता है.. जब कभी भी ध्रुव मुसीबत में होता है तब उसका ये मित्र उसकी सहायता करने जरूर पहूंचता है.. इसका नाम धनंजय है.. अब यदी सारा कुछ मैं यहीं बता दूंगा तो आप क्या पढेंगे? सो बेहतर है की आप इस कॉमिक्स का मजा उठायें.. :)

इस कामिक्स का डाऊनलोड लिंक लिंक यहां है.. वैसे आप इसके चित्र पर भी क्लिक करके डाऊनलोड कर सकते हैं.. 

इसके लेखकों और चित्र बनाने वाले कलाकारों की जानकारी मुझे नहीं है.. अगर आपको हो तो मुझे जरूर बताईयेगा..

















संजय गुप्ता जी के अनुरोध पर डाउनलोड लिंक हटाया जा रहा है..

7 comments:

  1. सिरिल गुप्ताSeptember 14, 2008 at 2:37 PM

    यह दूसरी कामिक थी जो मैंने ध्रुव की पढ़ी थी. पहली शायद रोमन हत्यारा थी.

    तब भी मैं sci-fi का दीवाना था, और इस कामिक को पढ़ के बाद ध्रुव की हर वो कामिक पढ़ी जो हाथ आयी

    ReplyDelete
  2. जी हाँ सिरिल जी..
    आपसे जब मैं मिला था तभी समझ गया था की आप साईं-फाई चीजों के दीवाने हैं..:)
    चलिए आपको अपने अगले पोस्ट में रोमन हत्यारा पढाता हूँ..

    ReplyDelete
  3. siril ji
    badhiya comics lagi. apan bhi to bharatiy janamanas ke super star or super vilen mane jate hai.
    yamaraaj

    ReplyDelete
  4. PD Bhai...Grandmaster Robo- Dhruv ki ek kaafi durlabh comic hai...Iske Lekhak-Chitrakar Anupam Sinha Hain...Raj Comics ne jab Visheshank Prakashit karne Shuru Kiye Toh 'Nagraj Aur Super Commando Dhruv' unka pehla Visheshank Tha...jiske baad Doosra Visheshank Aya Grandmaster Robo...Haalaanki Is Visheshank Ka Main Villain Robo isse pehle Dhruv Ki Comic'Maut Ka Olympic'mein zara si der ke liye bhi aa chuka tha..

    ReplyDelete
  5. oyee hindi blog,,,good good..
    :-):-)

    ReplyDelete
  6. woha..nicey..:)
    Yaadein taja kardi..
    Waise mujhe dhang se yaad nahi but..Vraksha bhi dhruv ka villain tha na...?ya parmanu ka...? :O

    ReplyDelete
  7. ye comics bhi kisi trip mein khareede they hum...magar fir kho gaya...aaj fir mil gaya jaise :)

    ReplyDelete