Wednesday, June 16, 2010

तुलसी कॉमिक्स





1980 के दशक और 1990 की शुरुआत मे तुलसी कॉमिक्स काफ़ी लोकप्रिय थी. लेकिन राज कॉमिक्स, डायमंड कॉमिक्स और मनोज कॉमिक्स से मिल रही कड़ी प्रतिस्पर्धा और ज्यादातर साधारण कहानियो और कला वाली कॉमिक्स के कारण तुलसी कॉमिक्स आख़िरकार बंद हो गई. इस प्रकाशन के प्रमुख किरदार थे अंगारा, तौसी, जम्बू, बाज़, योशो, योगा, आदि. इनके अलावा तुलसी कॉमिक्स नई और जनरल कहानियो पर कॉमिक्स प्रकाशित करती थी जो भूत - प्रेत, राजा - रानी, पौराणिक, जादू - टोना, तिलिस्म, आदि पर आधारित होती थी. तत्कालीन प्रतिस्पर्धा मे बाकी कॉमिक प्रकाशन मुख्य किरदारों को जोड़ियों मे निकालने का फार्मूला लाये थे जैसे मनोज कॉमिक्स ने राम-रहीम, अमर-अकबर, सागर-सलीम, आदि सीरीज प्रकाशित की, डायमंड कॉमिक्स ने चाचा-भतीजा, मोटू-पतलू, राजन-इकबाल, आल्तुराम-फाल्तुराम, आदि सीरीज निकाली. पर तुलसी कॉमिक्स ने ऐसी कोशिशे नहीं की.


साथ ही तुलसी कॉमिक्स की कोई 'self contained' (यानी एक कॉमिक मे पूरी होने वाली कहानी की) कॉमिक कम ही छपती थी. ऊपर से उनकी ज्यादातर कहानियो मे नयापन नही होता था. उनकी बहुत सी कॉमिक्स फिल्म्स, विदेशी उपन्यासों की कॉपी होती थी. तुलसी पॉकेट बुक्स से जुड़े कुछ उपन्यासकारों ने भी तुलसी कॉमिक्स के लिए कहानियाँ भी लिखी है जिनमे सबसे प्रमुख है मेरठ के जाने माने लेखक श्री वेद प्रकाश शर्मा. उन्होंने मुख्यतः जम्बू सीरीज के लिए काम किया. जो भी हो तुलसी कॉमिक्स के रूप मे भारतीय कॉमिक उद्योग के एक स्तंभ का दुखद अंत हुआ. आशा है की आगे ऐसे कई कॉमिक प्रकाशनों के साथ कॉमिक्स का स्वर्णिम युग ज़रूर लौटकर आएगा.


नमस्ते! इस ब्लॉग परिवार के सभी सदस्यों और इसके पाठको को. मेरा नाम मोहित शर्मा है और मै लखनऊ, उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ. मै इक्कीस वर्षीय परास्नातक छात्र हूँ. बाकी जानकारी आगे देता रहूँगा.

8 comments:

  1. मैं मानता था तुलसी कॉमिक्स वेद प्रकाश शर्मा की थी.

    ReplyDelete
  2. @Sanjay Bengani - Jee haan Sanjay ji, Tulsi Comics Ved Prakash Sharma ji ki hi thi.

    ReplyDelete
  3. वाह भई, आते ही दो गोल.. बढ़िया है.. :)

    वैसे मुझे शुरू से ही लगता रहा है कि राज कामिक्स का सबसे बड़ा सुपरस्टार पात्र नागराज तुलसी कामिक्स के तौसी कि नक़ल से ही शुरू हुई थी.. पता नहीं मैं सही हूँ या गलत?

    ReplyDelete
  4. @ PD - Darasal Tausi Nagraj ki safalta dekh kar gadha gaya tha aur kabhi utni lokpriyata haasil na kar paaya...

    ReplyDelete
  5. ओह.. मुझे नहीं पता था.. मुझे लगता था कि तौसी नागराज से पहले का कैरेक्टर है.. Thanks अलोक भाई.. :)

    ReplyDelete
  6. aaj jaise DOGA ki fan following hai .. vaise ek time angara ki thi...


    and kuch facts jo mujhe yaad hai
    - tousi ki comics rituraj likte the..aur kadam studio shyad draw karte the
    - Angara ko Sathe ji drow karte the jinhone baad me Raj comics ke lie bhi kaam kia..

    - Jambu ki hair style ya looks shyad mithun se lia gaya tha (I think)

    ReplyDelete
  7. मोहित जी बहुत पढ़ी थी बचपन में तुलसी कॉमिक्स , जम्बू का किरदार बहुत रोचक होता था. आभार उन्हें याद दिलाने का...

    regards

    ReplyDelete
  8. मेरा ब्लॉग पसंद करने के लिए आप सब का बहुत बहुत धन्यवाद. वैसे नागराज की कॉपी का आरोप 'राधा कॉमिक्स' पर भी लगा था जिनका एक किरदार 'नागेश' काफी कुछ नागराज जैसा था. ये केस सुप्रीम कोर्ट तक गया था जिसमे राज कॉमिक्स जीती थी और राधा कॉमिक्स को नागेश बंद करना पड़ा था.

    ReplyDelete